पश्चिम बंगाल के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से बनाया गया है एक ऐप

कोलकाता : भगीरथ प्रयास न्यूज़ नेटवर्क: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज (सोमवार) को एक ऐप लॉन्च किया है और यह ऐप पश्चिम बंगाल सरकार ने दस्तावेजों की स्कैनिंग के लिए बनाया है। इस ऐप को पेश करते हुए ममता ने कहा कि यह देशभक्ति को दर्शाता है। इस सरकारी ऐप में एक मजदूर की व्यक्तिगत और व्यावसायिक जानकारी होगी। प्रवासी मजदूर के घर का पता, फोन नंबर, परिवार के सदस्यों, बैंक खाते, आधार और पैन कार्ड, ब्लड ग्रुप और उसके या उसके कौशल का पूरा ब्यौरा ऐप में उपलब्ध होगा।ऐप को पेश करने के बाद ममता बनर्जी ने कहा कि मैं हमेशा अपने देश में बना ऐप इस्तेमाल करना चाहूंगी। यह देशभक्ति का द्योतक है। जो आज पश्चिम बंगाल सोचता है वह कल दुनिया सोचती है। पश्चिम बंगाल सरकार काफी समय से लॉकडाउन अवधि के दौरान राज्य में वापस आए प्रवासी मजदूरों, साथ ही उनके परिवारों के बारे में पूरी जानकारी रखने के लिए एक मोबाइल ऐप तैयार कर रही थी। बीते दिनों श्रम मंत्री मलय घटक ने बताया था कि श्रम विभाग लगभग 11 लाख श्रमिकों का डेटा एकत्र कर रहा है, जो अन्य राज्यों से वापस आए हैं।पश्चिम बंगाल में रविवार को कोविड-19 के एक दिन में सबसे अधिक 895 नये मामले सामने आये थे। वहीं 21 और मरीजों की मौत होने से राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 757 हो गई थी। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी एक बुलेटिन में कहा गया था कि नए मामले सामने आने से राज्य में कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 22,126 हो गए।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *