मर्यादा पुरुषोत्तम के आगे साष्टांग दंडवत हुए प्रधानमंत्री मोदी, भव्य राम मंदिर की रखी आधारशिला

अयोध्या, भगीरथ प्रयास न्यूज़ नेटवर्क ब्यूरो रिपोर्ट :

नई दिल्ली से अयोध्या के लिए रवाना होते पीएम मोदी

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के सामने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साष्टांग दंडवत किया और तत्पश्चात पूजन आरती भी किया.पूजन आरती पश्चात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम जन्मभूमि परिसर में पारिजात वृक्ष का पौधरोपण भी किया तदुपरांत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों 500 साल के बहुप्रतीक्षित राम जन्म भूमि स्थित भगवान राम के भव्य दिव्य राम मंदिर की आधारशिला रखी गई. इस प्रकार  मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्म स्थली पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश दुनिया के करोड़ों रामभक्तों के सदियों से खुली आंखों से देखे जा रहे सपने को साकार कर दिया है. वर्षों तक अदालत में मामला चलने के बाद आज पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर की नींव रख दी है.

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन किया है. पीएम मोदी ने अयोध्या पहुंचकर हनुमानगढ़ी में पूजा भी की, जिसके बाद उन्होंने रामलला के दर्शन किए.  हनुमानगढ़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विशिष्ट प्रकार का मुकुट लगाकर सम्मानित किया गया.

इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत मौजूद थे. पुरोहितों ने प्रधानमंत्री से विधिवत पूजा अर्चना कराई. इस दौरान चांदी की नौ शिलाओं का पूजन किया गया. करीब 12 बजे शुरू हुआ भूमि पूजन कार्यक्रम करीब 48 मिनट चला. अभिजीत मुहुर्त में भूमि पूजन और शिला पूजन सम्पन्न होने के बाद श्री मोदी ने साक्षात दंडवत कर देश की तरक्की और कोरोना के नाश का वरदान प्रभु श्रीराम से मांगा. 

भूमि पूजन कार्यक्रम के बाद हर हर महादेव,जय श्रीराम और भारत माता की जय के नारे लगाये गए. हनुमानगढ़ी में दर्शन करने के बाद पीएम मोदी भूमि पूजन के लिए पहुंचे हैं. उन्होंने राम लला के सामने साष्टांग प्रणाम भी किया. पीएम मोदी ने परिसर में पारिजात का पौधा भी लगाया.बता दें कि इस दिन का लोग सैंकड़ों वर्षों से बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. इस कार्यक्रम को लेकर पूरे देश में खुशियों का माहौल है. आलम यह है कि देश में दिवाली से पहले दीपावली सा माहौल है.

अयोध्या नगरी मंगलवार सूर्यास्त होते ही जगमग रोशनी से नहा उठी. मंगलवार को रोशनी में नहाया शहर बुधवार रात तक जगमग रहेगा. अयोध्या धाम में 3,51,000 दिए जलाए गए हैं. राम की पैड़ी समेत अयोध्या धाम के 50 स्थानों पर दिए जलाए गए. अयोध्या धाम के सभी मंदिरों में दिये जल रहे हैं. 

पीएम मोदी ने अपने ऐतिहासिक दौरे की शुरूआत हनुमानगढी के दर्शन कर की जिसके बाद उन्होने श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला के दर्शन किये और आरती उतारी. बाद में प्रधानमंत्री पीले रंग के कुर्ते,सफेद धोती और भगवा गमछा धारण किये भूमि पूजन के लिये पूजा चौकी चौकी पर आसीन हुए. काशी के प्रकांड तीन विद्धानों ने भूमि पूजन का अनुष्ठान शुरू किया. मोदी को यजमान के तौर पर संकल्प दिलाया गया और गणेश पूजन के साथ भूमि पूजन का कार्यक्रम शुरू हो गया.

इस अवसर पर पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि यह सिर्फ राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया नहीं शुरू हुई है बल्कि इस समूचे इलाके के पुनर्विकास की प्रक्रिया शुरू हो गई है राम मंदिर का भव्य निर्माण हो जाने के पश्चात यहां दुनिया भर से लोग आएंगे जिससे यहां के लोगों की रोजगार की समस्या सतत समाप्त हो जाएगी यहां खुशियां होंगी और पूरा इलाका विकसित होगा. बहरहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या आगमन पर अयोध्या को अभूतपूर्व रूप से अति भव्य रूप देते हुए सजाया गया था अयोध्या की गलियां अयोध्या की सड़कें आज बस देखते ही बन रही थी.

तत्पश्चात पूजन आरती भी किया.पूजन आरती पश्चात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम जन्मभूमि परिसर में पारिजात वृक्ष का पौधरोपण भी किया तदुपरांत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों 500 साल के बहुप्रतीक्षित राम जन्म भूमि स्थित भगवान राम के भव्य दिव्य राम मंदिर की आधारशिला रखी गई.

इस प्रकार  मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्म स्थली पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश दुनिया के करोड़ों रामभक्तों के सदियों से खुली आंखों से देखे जा रहे सपने को साकार कर दिया है.

यही है वह चांदी की आधारशिला जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखा

वर्षों तक अदालत में मामला चलने के बाद आज पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर की नींव रख दी है. इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन किया है. पीएम मोदी ने अयोध्या पहुंचकर हनुमानगढ़ी में पूजा भी की, जिसके बाद उन्होंने रामलला के दर्शन किए.  हनुमानगढ़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विशिष्ट प्रकार का मुकुट लगाकर सम्मानित किया गया.

इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत मौजूद थे.

पुरोहितों ने प्रधानमंत्री से विधिवत पूजा अर्चना कराई. इस दौरान चांदी की नौ शिलाओं का पूजन किया गया. करीब 12 बजे शुरू हुआ भूमि पूजन कार्यक्रम करीब 48 मिनट चला. अभिजीत मुहुर्त में भूमि पूजन और शिला पूजन सम्पन्न होने के बाद श्री मोदी ने साक्षात दंडवत कर देश की तरक्की और कोरोना के नाश का वरदान प्रभु श्रीराम से मांगा. 

भूमि पूजन कार्यक्रम के बाद हर हर महादेव,जय श्रीराम और भारत माता की जय के नारे लगाये गए. हनुमानगढ़ी में दर्शन करने के बाद पीएम मोदी भूमि पूजन के लिए पहुंचे हैं. उन्होंने राम लला के सामने साष्टांग प्रणाम भी किया. पीएम मोदी ने परिसर में पारिजात का पौधा भी लगाया.

बता दें कि इस दिन का लोग सैंकड़ों वर्षों से बेसब्री से इंतजार कर रहे थे. इस कार्यक्रम को लेकर पूरे देश में खुशियों का माहौल है. आलम यह है कि देश में दिवाली से पहले दीपावली सा माहौल है. अयोध्या नगरी मंगलवार सूर्यास्त होते ही जगमग रोशनी से नहा उठी. मंगलवार को रोशनी में नहाया शहर बुधवार रात तक जगमग रहेगा. अयोध्या धाम में 3,51,000 दिए जलाए गए हैं. राम की पैड़ी समेत अयोध्या धाम के 50 स्थानों पर दिए जलाए गए. अयोध्या धाम के सभी मंदिरों में दिये जल रहे हैं. 

मोदी ने अपने ऐतिहासिक दौरे की शुरूआत हनुमानगढी के दर्शन कर की जिसके बाद उन्होने श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला के दर्शन किये और आरती उतारी. बाद में प्रधानमंत्री पीले रंग के कुर्ते,सफेद धोती और भगवा गमछा धारण किये भूमि पूजन के लिये पूजा चौकी चौकी पर आसीन हुए. काशी के प्रकांड तीन विद्धानों ने भूमि पूजन का अनुष्ठान शुरू किया. मोदी को यजमान के तौर पर संकल्प दिलाया गया और गणेश पूजन के साथ भूमि पूजन का कार्यक्रम शुरू हो गया.
इस अवसर पर पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि यह सिर्फ राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया नहीं शुरू हुई है बल्कि इस समूचे इलाके के पुनर्विकास की प्रक्रिया शुरू हो गई है राम मंदिर का भव्य निर्माण हो जाने के पश्चात यहां दुनिया भर से लोग आएंगे जिससे यहां के लोगों की रोजगार की समस्या सतत समाप्त हो जाएगी यहां खुशियां होंगी और पूरा इलाका विकसित होगा.
बहरहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या आगमन पर अयोध्या को अभूतपूर्व रूप से अति भव्य रूप देते हुए सजाया गया था अयोध्या की गलियां अयोध्या की सड़कें आज बस देखते ही बन रही थी.

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *