जहाँ बेदर्द हाकिम हो वहाँ फरियाद क्या करना

सरकार की वादा खिलाफी से अवसाद में आकर शिक्षामित्र सत्यभान सिंह ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

शिक्षामित्र परिवार में छायी शोक की लहर

आगरा। भगीरथ प्रयास न्यूज़ नेटवर्क। प्राथमिक विद्यालय पारना द्वितीय विकासखण्ड जैतपुर कलां जनपद आगरा में कार्यरत शिक्षामित्र सत्यभान सिंह ने सरकार की वादा खिलाफी से त्रस्त आकर तथा नई शिक्षा नीति में शिक्षामित्रों के लिए कुछ न होता देख अवसाद में आकर रात को फाँसी लगाकर आत्महत्या करके अपने प्राण त्याग दिए । सत्यभान सिंह 2006 में प्राथमिक विद्यालय द्वितीय में शिक्षामित्र के पद पर कार्यरत हुए। इसके बाद समाजवादी पार्टी द्वारा किये गए समायोजन में 2014 प्रथम बैच में प्राथमिक विद्यालय खेड़ा राठौर में सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित हुए। 25 जुलाई 2017 को सुप्रीम कोर्ट से समायोजन निरस्त होने के बाद पुनः 2018 से अपने मूल विद्यालय में पारना में लौटकर शिक्षामित्र पद पर कार्य कर रहे थे । इनकी पत्नी श्रीमती उषा देवी भी इनके पैतृक गॉंव नगला सुरई में शिक्षामित्र हैं परिवार में दो छोटे बच्चे बेटा निशु उम्र 14 वर्ष तथा बेटी रक्षा 10 वर्ष हैं तथा बूढ़े माता पिता हैं । उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ जनपद आगरा के सत्यभान ने हुई असामयिक मृत्यु का जिम्मेदार तानाशाह योगी सरकार को ठहराते हुए पीड़ित परिवार के प्रति शिक्षामित्रों के साथ अपनी संवेदना ब्यक्त की है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *