घर से भागी बहू,सास ने जीभ काटकर भगवान शिव को चढ़ाया

जमशेदपुर.भगीरथ प्रयास न्यूज़ नेटवर्क. बहू के लापता होने पर अंधविश्वास में एक महिला ने अपनी जुबान काटकर शंकर भगवान की तस्वीर पर चढ़ा दी. महिला का कहना है कि उसने जुबान इसलिए चढ़ाई, क्योंकि भगवान उसकी बहू को वापस ला दें. अब वह अपने बहू से कुछ नहीं कहेगी. उसने जुबान का आगे का हिस्सा काटा है, लेकिन किसी तरह लडख़ड़ाकर बात कर रही है. उसे इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

घटना सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर स्थित एनआईटी परिसर की है. महिला का नाम लक्ष्मी निराला है, जो छत्तीसगढ़ के नया रायपुर जिला अंतर्गत खरसिवा गांव की निवासी है.

उसके पिता का नाम नरदू निराला है. इनके छह लोगों का पूरा परिवार एनआईटी में कमला आदित्य कंस्ट्रक्शन में ठेका मजदूरी करता है. लक्ष्मी की बहू ज्योति निराला 14 अगस्त की शाम से लापता है, ज्योति अपने एक साल की बेटी और ननद ममता (10) के साथ शाम में शौच के लिए नदी किनारे गई थी. ममता से उसने कहा कि उसे शर्म आती है, इसलिए वह उससे दूर बैठे.

ममता ने उसकी बात मान ली. ज्योति अपने एक साल की बेटी को लेकर ममता की नजर से ओझल हो गई. जब देर तक ज्योति नहीं आई तो इसकी जानकारी उसने पिता नरदू निराला को आकर दी. नरदू अपने बेटे और ज्योति के पति शिवा निराला को साथ लेकर नदी किनारे गया, लेकिन ज्योति का कहीं पता नहीं चला. उसके बाद वे सभी आरआईटी थाना गए, लेकिन वहां बताया गया कि शनिवार सुबह आकर शिकायत करें. शनिवार सुबह वे थाना गए लेकिन वहां झंडोत्तोलन हो रहा था. उसके बाद वे लोग घर चले आए.

इधर, रविवार सुबह ज्योति की सास ने पहले शंकर भगवान की तस्वीर के सामने पूजा की. इसके बाद अचानक उसने घर में रखे चाकू से अपनी जुबान काटकर शंकर भगवान की तस्वीर पर रख दी. मां को रक्त रंजित देखकर शिवा ने एनआईटी परिसर में कंस्ट्रक्शन कंपनी के लोगों को बताया. वे लोग उसे एमजीएम अस्पताल लेकर आए. उनके अस्पताल में भर्ती कराने के थोड़ी देर बाद आरआईटी थाना से एएसआई पतरस आइंड पुलिस बल के साथ अस्पताल पहुंचे. महिला की जुबान कटने के चलते वह बात करने की स्थिति में नहीं है.

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *