पुणे में फिर कोरोना का हाहाकर! एक दिन में बढे 634 पाॅजिटिव, एक्टिव केसों की संख्या हुई 2896

पुणे, भगीरथ प्रयास न्यूज़ नेटवर्क : पुणे में कोरोना की दूसरी लहर आ गई है। कोरोना का हाहाकार पुणे शहर यानी पुणे मनपा क्षेत्र सहित पिंपरी चिंचवड और समूचे जिले में एक बार फिर शुरू हो गया है। यह अलग बात है कि पुणे के लोग कोरोना संक्रमण को लेकर काफी लापरवाह हो रहे हैं। जबकि यह चिंता की बात है क्योंकि आज 21 फरवरी को एक दिन मंे अकेले पुणे मनपा क्षेत्र के अंतर्गत 634 पाॅजिटिव मरीज पाए गए हैं जो कि शुक्रवार 19 फरवरी को आए आंकडों से 107 और शनिवार 20 फरवरी के आंकडों से 220 अधिक हंै। इसी प्रकार हम एक्टिव केसों को देखें तो शुक्रवार 19 फरवरी को पुणे मनपा क्षेत्र के अंतर्गत कुल 2399 एक्टिव केसेस थे जो कि शनिवार 20 फरवरी को बढकर 2561 हो गए और आज रविवार 21 फरवरी को यह आंकडा बढकर 2896 हो गया है। इस प्रकार शनिवार 20 फरवरी को एक्टिव केसों की संख्या 162 बढी थी जबकि आज 21 फरवरी को एक्टिव केसों की संख्या 335 बढकर 2896 हो गई है। यह वास्तव में किसी खतरे के सायरन से कम नहीं है। यह वजह है कि स्कूल कालेज 28 फरवरी तक बंद कर दिए गए हैं और रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक अनिवार्य नाइट कफ्र्यू लागू कर दिया गया है।


पुणे मनपा स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिले आंकडों के अनुसार आज मनपा क्षेत्र में 634 नए पाॅजिटिव मरीज पाए गए हैं जबकि एक्टिव केसेस की संख्या 2896 हो गई है। इसी प्रकार शहर में क्रिटिकल मरीजों की संख्या 164 हो गई है और कुल पाॅजिटिव मरीजों की संख्या 350 हो गई है। बताया गया है कि क्रिटिकल मरीजों को आवश्यकतानुसार वेंटीलेटर लगाया गया है।


राहत की बात यह है कि, आज कोरोना रोगियों के कोरोना मुक्त होकर डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 294 हो गई है। इसी प्रकार काफी हद तक मृत्यु दर पर भी नियंत्रण पा लिया गया है। आज एक दिन मंे कुल 5 मरीजों की मौत हुई है।


मनपा स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में शहर के विभिन्न भागों में कोरोना संदिग्ध रोगियों की जांच करते हुए 4707 लोगों के नमूने संकलित किए गए हैं।


इस दौरान पुणे के पालकमंत्री अजीत दादा पवार, विभागीय आयुक्त सौरभ राव, जिलाधिकारी डा. राजेश देशमुख और मनपा आयुक्त विक्रम कुमार ने जनता से अपील किया है कि अनिवार्य रूप से मास्क पहनें और जरूरी होने पर ही रात में घर से बाहर निकलें, कोरोना नियमावली का पूरी कडाई से पालन करें। ऐसा होने से ही कोरोना पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *