चित्रों के सृजन से मां भारती को नमन हैं शॉर्ट फिल्म रंगाकन -2

रंगाकन -2 में अभिव्यक्त हुई विश्व कल्याण की कामना

गोरखपुर। भगीरथ प्रयास न्यूज़ नेटवर्क। वैश्विक महामारी कोरोना(कोविड-19) में देश संकट के दौर से गुजर रहा है।
लाक डाउन में जहा पूरा देश बंद दरवाजे में सिमटा हुआ है वहीं कलाकार अपनी रंग कैनवास से अवसाद एवम् तनाव से मुक्ति की युक्ति का रहस्य उद्घाटित कर रहे है।
लाक डाउन में सृजन पर केंद्रित शॉर्ट फिल्म रंगाकन-2 की अभिव्यक्ति मां भारती को नमन करते हुए देश को समर्पित है।


दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्व विधालय के ललित कला एवम् संगीत विभाग के पुरातन छात्र /छात्राओं ने सहभागिता किया है।
लाक डाउन में सृजन की गंगा में उत्साह और लोक मंगल विश्व कल्याण के भाव से चित्रकारों ने अपने चित्रों को चित्रित किया है।
प्रेरणादाई गीत संगीत से सजे शॉर्ट फिल्म रंगांकन-2 में सभी कलाकारों ने लाक डाउन का पूर्ण पालन करते हुए अपने गृह स्थल से बहुमूल्य समय ,देकर फिल्म को पूरा करने में सहयोग दिया है।

जिसमे प्रमुख रूप से डा. राम निवास यादव, संजीव गुप्ता, दीपक पाण्डेय, धीरज सिंह ,कीर्ति वर्मा , मनोज वर्मा, रेनू लता सिंह, शीला शर्मा, मिथलेश नंदनी , विष्णु शर्मा, अवधेश चौरसिया, ने अपने चित्रों को शॉर्ट फिल्म में सृजित किया है।
रंगाकन-2 फिल्म की एडिटिंग – ऋतु , प्रस्तुति ,परिकल्पना एवम् निर्देशन – संदीप कुमार श्रीवास्तव ने किया है।


प्रस्तुति एवम् परिकल्पना को मूर्त रुप देते हुए संदीप श्रीवास्तव ने गोरखपुर विश्व विद्यालय के ललित कला एवम् संगीत विभाग के वर्तमान विभागाध्यक्ष डा. उषा सिंह जी ,पूर्व विभागाध्यक्ष पदमश्री डा. राजेश्वर आचार्य, डा..मनोज कुमार सिंह , डा.सतेंद्र सिंह, डा. भारत भूषण, डा. गौरी शंकर चौहान, डा. प्रदीप कुमार साहनी, श्रद्धा शुक्ला , प्रदीप राजोरिया , एवम् शुभांकर डे, विभाग के पुरातन छात्रों , कला प्रेमियों व दर्शकों के प्रति कृतज्ञता ,आभार व्यक्त किया। रंगाकन -2 फिल्म youtube पर उपलब्ध हैं, इससे पूर्व लाक डाउन में सभी चित्रकारों को सृजन नव निर्माण के उद्देश्य जागृत करने के लिए Rangankan शॉर्ट फिल्म (वृत्त चित्र ) की प्रस्तुति की जा चुकी है। जिसमे प्रमुख रूप से चित्रकार एवम् शिक्षक आशीष नारायण मिश्र,अजीत अग्रहरि, निलय कुमार , अनु शुक्ला , डा. श्वेता वर्मा, मुन श्रीवास्तव, तृप्ति श्रीवास्तव, प्रदीप सुविज्ञ, ऋतु , संदीप कुमार श्रीवास्तव ने अपने चित्रों भवाभिव्यक्ती किया था। में सहभागिता किया।

प्रस्तुति एवम् परिकल्पना को मूर्त रुप देते हुए संदीप श्रीवास्तव ने गुरु, कलाकारों व दर्शकों के प्रति कृतज्ञता,आभार व्यक्त किया। रंगाकन फिल्म youtube पर उपलब्ध हैं, plz like and subscribe

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *