भिंड जिले में प्रशासन की कार्यवाही से रेत माफियाओं में मचा हड़कंप

भिंड, मध्यप्रदेश /भगीरथ प्रयास न्यूज नेटवर्क ब्यूरो रिपोर्ट : भिंड जिले में अवैध रेत उत्खनन, परिवहन व भंडारण का काम चरम पर है वहीं सरकार द्वारा इस पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया गया है बाबजूद रेत माफियाओं द्वारा अवैध रेत उत्खनन, परिवहन, व भंडारण का कार्य जोरों पर है। चंबल पुलिस डीआईजी राजेश हिंगणकर द्वारा जिले में लगातार की जा रही छापेमारी व कानूनी कार्यवाही से रेत माफियाओं में हड़कंप मच गया है। ज्ञात रहे जिले में सिंध नदी से अवैध रेत उत्खनन परिवहन व भंडारण का कार्य विगत वर्षो से जारी है जिले में ऐसी कई अवैध रेत खदाने संचालित हैं जहां पर रेत उत्खनन अपने चरम पर है। रेत माफिया नदी से रेत निकालकर भंडारण करके बरसात के मौसम में इस रेत को ऊंचे दामों में बेचकर भारी मुनाफा कमाते हैं। प्रशासन द्वारा हो रही छापामार कार्यवाही से रेत माफियाओं में दहसत का माहौल है। वहीं डीआईजी द्वारा उठाए गए कदम की जिले में लोग प्रशंसा कर रहे हैं। पिछ्ले दिनों भिंड जिले की रोन, लहार, उमरी, भारोली, अमयान, नयागांव आदि थाना छेत्रो में संचालित अवैध रेत खदानों पर पुलिस व खनिज विभाग की सैयुक्त कार्यवाही में लाखों रूपयों के अवैध रेत के भंडार मिले हैं। सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार इस कार्यवाही में स्थानीय पुलिस भी संदेह के घेरे में आती है कि जिले में रेत माफियाओं पर डीआईजी ग्वालियर से आकर इतनी बड़ी कार्यवाही कर रहे हैं वहीं स्थानीय थाना छे त्रो के अध कारियो को संचालित अवैध रेत खदानों की जानकारी नहीं हो पाती।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *