कड़ी मशक्कत के बाद कोतवाली पुलिस ने 20 घंटे बाद मृतक युवक का कराया अंतिम संस्कार स्वास्थ्य महकमे की आसंवेदनशीलता आई सामने

बीकापुर/अयोध्या

कोतवाली क्षेत्र के गडई लाला का पुरवा निवासी 25 वर्षीय युवक की घर के अंदर सोमवार देर शाम संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो जाने के मामले में गांव के ग्रामीणों और स्वास्थ्य महकमे की आसंवेदनशीलता सामने आई है। सूचना मिलने पर रात में ही पुलिस क्षेत्राधिकारी कोमल प्रसाद मिश्र, कोतवाल इंद्रेश यादव कोतवाली पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पूछताछ और जांच पड़ताल शुरु की गई। लेकिन सूचना दिए जाने के बावजूद सीएचसी के स्वास्थ्य कर्मी रात में नहीं आए। कोतवाल इंद्रेश यादव ने बताया कि करीब 15 दिन पूर्व 10 मई को सूरत से घर आया युवक अपने घर में क्वॉरेंटाइन था। परिवार में सिर्फ उसकी 60 वर्षीय बुजुर्ग मां ही उसके साथ थी। मृतक युवक की शादी हो चुकी थी। लेकिन उसकी पत्नी अपने मायके में थी। अभी कोई संतान नहीं है। बताया कि उनके द्वारा कई बार फोन सीएचसी अधीक्षक बीकापुर को किया गया लेकिन रात में कोई नहीं आया। उसके बाद उन्होंने सूचना सीडीओ और अन्य अधिकारियों को दिया। मंगलवार सुबह मौके पर पहुंचकर अन्य कार्रवाई शुरू की गई। गांव का कोई भी ग्रामीण मौके पर नहीं दिखाई पड़ा। सिर्फ ग्राम प्रधान बलराम यादव और मृतक के दो रिश्तेदार ही वहां पहुंचे थे। बार-बार निवेदन करने के बावजूद ग्रामीणों द्वारा कोई सहयोग नहीं किया गया। बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चौरे बाजार के चिकित्सक रामनाथ दो स्वास्थ्य कर्मियों के साथ मंगलवार सुबह मृतक के घर पहुंचे। और जांच-पड़ताल किया। किसी द्वारा कोई सहयोग ना करने पर कोतवाली पुलिस द्वारा मृतक के दो रिश्तेदारों का सहयोग लिया गया। और मृतक के शव को गांव के बाहर गड्ढा खोदवाकर दफन करवा दिया गया। घर में अकेली बची मृतक की बुजुर्ग मां को कोतवाली पुलिस स्वास्थ्य टीम द्वारा एंबुलेंस के जरिए फैसिलिटी क्वॉरेंटाइन सेंटर मसौधा भेजा गया।बताया गया कि मृतक के दो भाइयों की कई वर्ष पूर्व पहले मौत हो चुकी है। परिवार में सिर्फ उसकी बुजुर्ग मां ही बची थी। परिवार अत्यंत ही गरीब है। चर्चा है कि मृतक युवक का जांच सैंपल भी नहीं भेजा गया है।
पुलिस क्षेत्राधिकारी कोमल प्रसाद मिश्र ने बताया कि बार-बार निवेदन के बावजूद गांव के लोगों द्वारा मृतक के अंतिम संस्कार के लिए कोईसहयोग नहीं किया गया पुलिस करीब 20 घंटे तक कड़ी मशक्कत करती रही। उसके बाद युवक के शव का अंतिम संस्कार संपन्न हुआ।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *