अजीत गुप्ता ने ठगे थे 600 करोड़, यूपी के कई जिलों में की थी चढ़ा पुलिस के हत्थे

लखनऊ- एनी बुलियन कंपनी के नाम पर करीब 600 करोड़ रुपये की ठगी करने के आरोपित अजीत कुमार गुप्ता को पीजीआइ थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अजीत पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। अजीत ने न केवल राजधानी बल्कि सुल्तानपुर, अयोध्या, बाराबंकी, हरदोई व प्रतापगढ़ समेत अन्य जिलों के किसानों व सेवानिवृत्त फौजियों से करोड़ों रुपये हड़पे थे। इंस्पेक्टर पीजीआइ के•के• मिश्रा के मुताबिक मूलरूप से कुमारगंज अयोध्या निवासी अजीत को सेक्टर आठ वृंदावन से मुखबिर की सूचना पर पकड़ा गया।आरोपित ने वर्ष 2010 में एनी बुलियन के नाम से कंपनी खोली थी जिसमें उसने सोना, चांदी, हीरा व सिक्कों का कारोबार दर्शाया था, लेकिन कंपनी की ओर से कोई काम नहीं किया जाता था। अजीत के खिलाफ कुल 10 मुकदमे दर्ज है|अजीत ने मुआवजा पाए किसानों, सेवानिवृत्त सैन्यकर्मियों व अन्य लोगों को निशाना बनाया था। इसके बाद उनसे जमा रुपये निवेश करने की बात कही और 40 प्रतिशत वार्षिक मुनाफा देने का झांसा दिया। लोगों से कर्ज पर रुपये लेने का हलफनामा बनाया और फिर उन रुपयों को सोना चांदी की तस्करी व शेयर मार्केट में लगा दिया।शुरुआत में अजीत ने लोगों को मुनाफे की रकम वापस भी की, जिससे लोगों को उसपर भरोसा हो गया। इसके बाद कई जिलों में इसने लोगों से करोड़ों रुपये ले लिए। अजीत ने दिल्ली, उत्तराखंड व हिमाचल प्रदेश समेत कई राज्यों में भी लोगों से ठगी की है। 10 अन्य कंपनियां भी बनाई आरोपित ने 10 अन्य कंपनियां भी खोल ली थी। निवेशक का समय पूरा हो जाने पर वह उन्हें प्रलोभन देकर जाली कागजात के जरिए उनके रुपये दूसरी कंपनी में निवेश करा देता था, लेकिन हकीकत में रकम उसी के पास रहती थी। वर्ष 2016 में नोटबन्दी के बाद लोगों ने अपने रुपये वापस मांगे तो अजीत टालमटोल करने लगा और फोन बंद कर फरार हो गया। अजीत ने अलग अलग शहरों व राज्यों में अपना ऑफिस खोल रखा था। पुलिस को आरोपित की करीब छह सौ करोड़ की संपत्ति का पता चला है।अजीत ने एनी बुलियन इंडस्ट्री, एनी कमोडिटी ब्रोकर्स, एनी सिक्योरिटी, एनी मार्केटिंग सोल्यूशन व एनी राजावत समेत अन्य नाम से कम्पनी बनाई थी।आठ किलो सोना व दो कुंतल चांदी के साथ पकड़े गए थे साथी अजीत के छह साथियों को डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेन्स की टीम ने इसी साल गोरखपुर से गिरफ्तार किया था। आरोपितों के पास से आठ किलो सोना और दो कुंतल चांदी बरामद की गई थी। इनमें गोरखपुर सर्राफा व्यवसायी संगठन का पूर्व अध्यक्ष भी शामिल था। टीम ने अजीत गुप्ता के खिलाफ समन भी जारी किया था। पुलिस आरोपित के अकूत संपत्तियों का ब्यौरा खंगाल रही है।

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *